Tuesday 27 July 2010

अल्लाह

अल्लाह मेरी आह मे इतना असर तो भर दे,
दुनिया के दहशतगर्दों को तू खाक तो कर दे,

नफ़रतों का दौर है तेरी दुनिया मे आजकल,
इन लोगों मे ज़रा प्यार के ज़ज्बात तो भर दे,

है इंसानियत नदारद दुनिया से तेरी या रब,
इंसान को ज़रा फिर इंसान सा तो कर दे,

बेआस बेसहारा जो दर-दर भटक रहें हैं,
वो मासूम से बच्चे हैं उन्हें आसरा तो कर दे,

चैन हो अमन हो, जिस दुनिया मे हो मोहब्बत,
ऐसी भी एक दुनिया का आगाज़ तो कर दे.

Monday 5 July 2010

भारत बंद

बसों मे तोड़ फोड़, सड़क सुनसान है,

रेल सेवा अवरुद्ध है यात्री परेशान है,

मंहगाई घटे ना घटे कुछ हो ना हो,

मगर आज 'भारत बंद' का आह्वान है